Share this page on following platforms.

Home Bhajans Mata ki bhetein

Mata ki bhetein

Oonchi Pahadiyon Pe Dera Tera Ambe

Swarg Se Sunder Bhawan Hai Maa Ka

Jo Bhi Aaya Hai Tere Dware

Dwar Dwar Hoon Bhatki Maiya

Maa Ko Pukare Beta Din Raat

Jotan Wali Tera Naam Jape

Tu Mare Ya Tare

O Kanjaka Jara Hoke Dayaal Hamein Maa Se Mila De

Main Chunri Chadhaun Taare Jadi

Teri Dagariya Mein Maa Oonchi Atariya Mein

2 Barishon ki Cham Cham Mein tere dar par aayen hain

Tera Sahara Ambe Maa - Sonu Nigam - Pahadanwali Maa Sheranwali

Contents of this list:

Oonchi Pahadiyon Pe Dera Tera Ambe
Swarg Se Sunder Bhawan Hai Maa Ka
Jo Bhi Aaya Hai Tere Dware
Dwar Dwar Hoon Bhatki Maiya
Maa Ko Pukare Beta Din Raat
Jotan Wali Tera Naam Jape
Tu Mare Ya Tare
O Kanjaka Jara Hoke Dayaal Hamein Maa Se Mila De
Main Chunri Chadhaun Taare Jadi
Teri Dagariya Mein Maa Oonchi Atariya Mein
2 Barishon ki Cham Cham Mein tere dar par aayen hain
Tera Sahara Ambe Maa - Sonu Nigam - Pahadanwali Maa Sheranwali

Bhajan Lyrics View All

मुझे रास आ गया है, तेरे दर पे सर झुकाना
तुझे मिल गया पुजारी, मुझे मिल गया
मेरे जीवन की जुड़ गयी डोर, किशोरी तेरे
किशोरी तेरे चरणन में, महारानी तेरे
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
बांके बिहारी की देख छटा,
मेरो मन है गयो लटा पटा।
तेरे बगैर सांवरिया जिया नही जाये
तुम आके बांह पकड लो तो कोई बात बने‌॥
दुनिया से मैं हारा तो आया तेरे द्वार,
यहाँ से गर जो हरा कहाँ जाऊँगा सरकार
बहुत बड़ा दरबार तेरो बहुत बड़ा दरबार,
चाकर रखलो राधा रानी तेरा बहुत बड़ा
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
वास देदो किशोरी जी बरसाना,
छोडो छोडो जी छोडो जी तरसाना ।
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
ये तो बतादो बरसानेवाली,मैं कैसे
तेरी कृपा से है यह जीवन है मेरा,कैसे
साँवरिया ऐसी तान सुना,
ऐसी तान सुना मेरे मोहन, मैं नाचू तू गा
अपनी वाणी में अमृत घोल
अपनी वाणी में अमृत घोल
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
वृंदावन में हुकुम चले बरसाने वाली का,
कान्हा भी दीवाना है श्री श्यामा
जग में सुन्दर है दो नाम, चाहे कृष्ण
बोलो राम राम राम, बोलो श्याम श्याम
ज़रा छलके ज़रा छलके वृदावन देखो
ज़रा हटके ज़रा हटके ज़माने से देखो
राधा नाम की लगाई फुलवारी, के पत्ता
के पत्ता पत्ता श्याम बोलता, के पत्ता
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
राधे तु कितनी प्यारी है ॥
तेरे संग में बांके बिहारी कृष्ण
जय राधे राधे, राधे राधे
जय राधे राधे, राधे राधे
तीनो लोकन से न्यारी राधा रानी हमारी।
राधा रानी हमारी, राधा रानी हमारी॥
तू कितनी अच्ची है, तू कितनी भोली है,
ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ, ओ माँ ।
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
यह मेरी अर्जी है,
मैं वैसी बन जाऊं जो तेरी मर्ज़ी है
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
कोई पकड़ के मेरा हाथ रे,
मोहे वृन्दावन पहुंच देओ ।
मुँह फेर जिधर देखु मुझे तू ही नज़र आये
हम छोड़के दर तेरा अब और किधर जाये
किशोरी कुछ ऐसा इंतजाम हो जाए।
जुबा पे राधा राधा राधा नाम हो जाए॥