Share this page on following platforms.

Home Bhajans Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya- Hari Sundar From Popular Art of Living Bhajans Playlist

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Bhole Ki Jai Jai From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Gopala Gopala From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Jai Jai Radha Raman From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Krishna Kanha From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Krishnam Vande From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Om Namah Shivay From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Shiv Raja Maheshwa From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya Shivaya Namah From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya Sunder Kanha From Popular Art of Living Bhajans Playlist

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya- Pragya Tumahi Bandhu From Popular Art of Living Bhajans

Art of Living Bhajan By Art of Living Devotee Rishi Nitya Pragya - Hari Bol

Contents of this list:

Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya- Hari Sundar From Popular Art of Living Bhajans Playlist
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Bhole Ki Jai Jai From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Gopala Gopala From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Jai Jai Radha Raman From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Krishna Kanha From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Krishnam Vande From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Om Namah Shivay From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya - Shiv Raja Maheshwa From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya Shivaya Namah From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya Pragya Sunder Kanha From Popular Art of Living Bhajans Playlist
Art of Living Bhajans by Rishi Nitya- Pragya Tumahi Bandhu From Popular Art of Living Bhajans
Art of Living Bhajan By Art of Living Devotee Rishi Nitya Pragya - Hari Bol

Bhajan Lyrics View All

श्याम बुलाये राधा नहीं आये,
आजा मेरी प्यारी राधे बागो में झूला
नटवर नागर नंदा, भजो रे मन गोविंदा
शयाम सुंदर मुख चंदा, भजो रे मन
वृन्दावन के बांके बिहारी,
हमसे पर्दा करो ना मुरारी ।
अपने दिल का दरवाजा हम खोल के सोते है
सपने में आ जाना मईया,ये बोल के सोते है
हम राम जी के, राम जी हमारे हैं
वो तो दशरथ राज दुलारे हैं
तमन्ना यही है के उड के बरसाने आयुं मैं
आके बरसाने में तेरे दिल की हसरतो को
तेरे दर की भीख से है,
मेरा आज तक गुज़ारा
ये सारे खेल तुम्हारे है
जग कहता खेल नसीबों का
इक तारा वाजदा जी हर दम गोविन्द
जग ताने देंदा ए, तै मैनु कोई फरक नहीं
मेरी करुणामयी सरकार पता नहीं क्या दे
क्या दे दे भई, क्या दे दे
मोहे आन मिलो श्याम, बहुत दिन बीत गए।
बहुत दिन बीत गए, बहुत युग बीत गए ॥
इतना तो करना स्वामी जब प्राण तन से
गोविन्द नाम लेकर, फिर प्राण तन से
मेरी रसना से राधा राधा नाम निकले,
हर घडी हर पल, हर घडी हर पल।
एक कोर कृपा की करदो स्वामिनी श्री
दासी की झोली भर दो लाडली श्री राधे॥
तेरे दर पे आके ज़िन्दगी मेरी
यह तो तेरी नज़र का कमाल है,
सांवरियो है सेठ, म्हारी राधा जी
यह तो जाने दुनिया सारी है
तेरी मुरली की धुन सुनने मैं बरसाने से
मैं बरसाने से आयी हूँ, मैं वृषभानु की
तू राधे राधे गा ,
तोहे मिल जाएं सांवरियामिल जाएं
राधे मोरी बंसी कहा खो गयी,
कोई ना बताये और शाम हो गयी,
रंगीलो राधावल्लभ लाल, जै जै जै श्री
विहरत संग लाडली बाल, जै जै जै श्री
एक दिन वो भोले भंडारी बन कर के ब्रिज
पारवती भी मना कर ना माने त्रिपुरारी,
दाता एक राम, भिखारी सारी दुनिया ।
राम एक देवता, पुजारी सारी दुनिया ॥
दुनिया का बन कर देख लिया, श्यामा का बन
राधा नाम में कितनी शक्ति है, इस राह पर
हम प्रेम नगर के बंजारिन है
जप ताप और साधन क्या जाने
कैसे जिऊ मैं राधा रानी तेरे बिना
मेरा मन ही ना लागे तुम्हारे बिना
लाडली अद्बुत नज़ारा तेरे बरसाने में
लाडली अब मन हमारा तेरे बरसाने में है।
Ye Saare Khel Tumhare Hai Jag
Kahta Khel Naseebo Ka
कोई कहे गोविंदा, कोई गोपाला।
मैं तो कहुँ सांवरिया बाँसुरिया वाला॥
मुझे रास आ गया है,
तेरे दर पे सर झुकाना
राधा कट दी है गलिआं दे मोड़ आज मेरे
श्याम ने आना घनश्याम ने आना