Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 9.23 Download BG 9.23 as Image

⮪ BG 9.22 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 9.24⮫

Bhagavad Gita Chapter 9 Verse 23

भगवद् गीता अध्याय 9 श्लोक 23

येऽप्यन्यदेवता भक्ता यजन्ते श्रद्धयाऽन्विताः।
तेऽपि मामेव कौन्तेय यजन्त्यविधिपूर्वकम्।।9.23।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 9.23)

।।9.23।।हे कुन्तीनन्दन जो भी भक्त (मनुष्य) श्रद्धापूर्वक अन्य देवताओंका पूजन करते हैं? वे भी करते तो हैं मेरी ही पूजन? पर करते हैं अविधिपूर्वक।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।9.23।। हे कौन्तेय श्रद्धा से युक्त जो भक्त अन्य देवताओं को पूजते हैं? वे भी मुझे ही अविधिपूर्वक पूजते हैं।।