Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 8.7 Download BG 8.7 as Image

⮪ BG 8.6 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 8.8⮫

Bhagavad Gita Chapter 8 Verse 7

भगवद् गीता अध्याय 8 श्लोक 7

तस्मात्सर्वेषु कालेषु मामनुस्मर युध्य च।
मय्यर्पितमनोबुद्धिर्मामेवैष्यस्यसंशयम्।।8.7।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 8.7)

।।8.7।।इसलिये तू सब समयमें मेरा स्मरण कर और युद्ध भी कर। मेरेमें मन और बुद्धि अर्पित करनेवाला तू निःसन्देह मेरेको ही प्राप्त होगा।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।8.7।। इसलिए तुम सब काल में मेरा निरन्तर स्मरण करो और युद्ध करो मुझमें अर्पण किये मन बुद्धि से युक्त हुए निःसन्देह तुम मुझे ही प्राप्त होओगे।।