Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 7.30 Download BG 7.30 as Image

⮪ BG 7.29 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 8.1⮫

Bhagavad Gita Chapter 7 Verse 30

भगवद् गीता अध्याय 7 श्लोक 30

साधिभूताधिदैवं मां साधियज्ञं च ये विदुः।
प्रयाणकालेऽपि च मां ते विदुर्युक्तचेतसः।।7.30।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 7.30)

।।7.30।।जो मनुष्य अधिभूत अधिदैव और अधियज्ञके सहित मुझे जानते हैं वे युक्तचेता मनुष्य अन्तकालमें भी मुझे ही जानते हैं अर्थात् प्राप्त होते हैं।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।7.30।। जो पुरुष अधिभूत और अधिदैव तथा अधियज्ञ के सहित मुझे जानते हैं वे युक्तचित्त वाले पुरुष अन्तकाल में भी मुझे जानते हैं।।