Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 7.21 Download BG 7.21 as Image

⮪ BG 7.20 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 7.22⮫

Bhagavad Gita Chapter 7 Verse 21

भगवद् गीता अध्याय 7 श्लोक 21

यो यो यां यां तनुं भक्तः श्रद्धयार्चितुमिच्छति।
तस्य तस्याचलां श्रद्धां तामेव विदधाम्यहम्।।7.21।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 7.21)

।।7.21।।(टिप्पणी प0 430) जोजो भक्त जिसजिस देवताका श्रद्धापूर्वक पूजन करना चाहता है उसउस देवताके प्रति मैं उसकी श्रद्धाको दृढ़ कर देता हूँ।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।7.21।। जोजो (सकामी) भक्त जिसजिस (देवता के) रूप को श्रद्धा से पूजना चाहता है उसउस (भक्त) की मैं उस ही देवता के प्रति श्रद्धा को स्थिर करता हूँ।।