Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 3.41 Download BG 3.41 as Image

⮪ BG 3.40 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 3.42⮫

Bhagavad Gita Chapter 3 Verse 41

भगवद् गीता अध्याय 3 श्लोक 41

तस्मात्त्वमिन्द्रियाण्यादौ नियम्य भरतर्षभ।
पाप्मानं प्रजहि ह्येनं ज्ञानविज्ञाननाशनम्।।3.41।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 3.41)

।।3.41।।इसलिये हे भरतवंशियोंमें श्रेष्ठ अर्जुन तू सबसे पहले इन्द्रियोंको वशमें करके इस ज्ञान और विज्ञानका नाश करनेवाले महान् पापी कामको अवश्य ही बलपूर्वक मार डाल।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।3.41।। इसलिये हे अर्जुन तुम पहले इन्द्रियों को वश में करके ज्ञान और विज्ञान के नाशक इस कामरूप पापी को नष्ट करो।।