Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 2.9 Download BG 2.9 as Image

⮪ BG 2.8 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 2.10⮫

Bhagavad Gita Chapter 2 Verse 9

भगवद् गीता अध्याय 2 श्लोक 9

सञ्जय उवाच
एवमुक्त्वा हृषीकेशं गुडाकेशः परन्तप।
न योत्स्य इति गोविन्दमुक्त्वा तूष्णीं बभूव ह।।2.9।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 2.9)

।।2.9।।सञ्जय बोले हे शत्रुतापन धृतराष्ट्र ऐसा कहकर निद्राको जीतनेवाले अर्जुन अन्तर्यामी भगवान् गोविन्दसे मैं युद्ध नहीं करूँगा ऐसा स्पष्ट कहकर चुप हो गये।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।2.9।। संजय ने कहा -- इस प्रकार गुडाकेश परंतप अर्जुन भगवान् हृषीकेश से यह कहकर कि हे गोविन्द मैं युद्ध नहीं करूँगा चुप हो गया।।