Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 2.19 Download BG 2.19 as Image

⮪ BG 2.18 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 2.20⮫

Bhagavad Gita Chapter 2 Verse 19

भगवद् गीता अध्याय 2 श्लोक 19

य एनं वेत्ति हन्तारं यश्चैनं मन्यते हतम्।
उभौ तौ न विजानीतो नायं हन्ति न हन्यते।।2.19।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 2.19)

।।2.19।।जो मनुष्य इस अविनाशी शरीरीको मारनेवाला मानता है और जो मनुष्य इसको मरा मानता है वे दोनों ही इसको नहीं जानते क्योंकि यह न मारता है और न मारा जाता है।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।2.19।। जो इस आत्मा को मारने वाला समझता है और जो इसको मरा समझता है वे दोनों ही नहीं जानते हैं? क्योंकि यह आत्मा न मरता है और न मारा जाता है।।