Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 18.78 Download BG 18.78 as Image

⮪ BG 18.77 Bhagwad Gita Hindi Translation

Bhagavad Gita Chapter 18 Verse 78

भगवद् गीता अध्याय 18 श्लोक 78

यत्र योगेश्वरः कृष्णो यत्र पार्थो धनुर्धरः।
तत्र श्रीर्विजयो भूतिर्ध्रुवा नीतिर्मतिर्मम।।18.78।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 18.78)

।।18.78।।जहाँ योगेश्वर भगवान् श्रीकृष्ण हैं और जहाँ गाण्डीवधनुषधारी अर्जुन हैं? वहाँ ही श्री? विजय? विभूति और अचल नीति है -- ऐसा मेरा मत है।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।18.78।। जहाँ योगेश्वर श्रीकृष्ण हैं और जहाँ धनुर्धारी अर्जुन है वहीं पर श्री? विजय? विभूति और ध्रुव नीति है? ऐसा मेरा मत है।।