Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 14.14 Download BG 14.14 as Image

⮪ BG 14.13 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 14.15⮫

Bhagavad Gita Chapter 14 Verse 14

भगवद् गीता अध्याय 14 श्लोक 14

यदा सत्त्वे प्रवृद्धे तु प्रलयं याति देहभृत्।
तदोत्तमविदां लोकानमलान्प्रतिपद्यते।।14.14।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 14.14)

।।14.14।।जिस समय सत्त्वगुण बढ़ा हो? उस समय यदि देहधारी मनुष्य मर जाता है? तो वह,उत्तमवेत्ताओंके निर्मल लोकोंमें जाता है।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।14.14।। जब यह जीव (देहभृत्) सत्त्वगुण की प्रवृद्धि में मृत्यु को प्राप्त होता है? तब उत्तम कर्म करने वालों के निर्मल अर्थात् स्वर्गादि लोकों को प्राप्त होता है।।