Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 12.8 Download BG 12.8 as Image

⮪ BG 12.7 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 12.9⮫

Bhagavad Gita Chapter 12 Verse 8

भगवद् गीता अध्याय 12 श्लोक 8

मय्येव मन आधत्स्व मयि बुद्धिं निवेशय।
निवसिष्यसि मय्येव अत ऊर्ध्वं न संशयः।।12.8।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 12.8)

।।12.8।।तू मेरेमें मनको लगा और मेरेमें ही बुद्धिको लगा इसके बाद तू मेरेमें ही निवास करेगा -- इसमें संशय नहीं है।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।12.8।। तुम अपने मन और बुद्धि को मुझमें ही स्थिर करो? तदुपरान्त तुम मुझमें ही निवास करोगे? इसमें कोई संशय नहीं है।।