Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 11.8 Download BG 11.8 as Image

⮪ BG 11.7 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 11.9⮫

Bhagavad Gita Chapter 11 Verse 8

भगवद् गीता अध्याय 11 श्लोक 8

न तु मां शक्यसे द्रष्टुमनेनैव स्वचक्षुषा।
दिव्यं ददामि ते चक्षुः पश्य मे योगमैश्वरम्।।11.8।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 11.8)

।।11.8।।तू अपनी इस आँखसे अर्थात् चर्मचक्षुसे मेरेको देख ही नहीं सकता। इसलिये मैं तुझे दिव्य चक्षु देता हूँ? जिससे तू मेरी ईश्वरसम्बन्धी सामर्थ्यको देख।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।11.8।। परन्तु तुम अपने इन्हीं (प्राकृत) नेत्रों के द्वारा मुझे देखने में समर्थ नहीं हो (इसलिए) मैं तुम्हें दिव्यचक्षु देता हूँ? जिससे तुम मेरे ईश्वरीय योग को देखो।।