Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 11.1 Download BG 11.1 as Image

⮪ BG 10.42 Bhagwad Gita Brahma Vaishnava Sampradaya BG 11.2⮫

Bhagavad Gita Chapter 11 Verse 1

भगवद् गीता अध्याय 11 श्लोक 1

अर्जुन उवाच
मदनुग्रहाय परमं गुह्यमध्यात्मसंज्ञितम्।
यत्त्वयोक्तं वचस्तेन मोहोऽयं विगतो मम।।11.1।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।11.1।। अर्जुन ने कहा -- मुझ पर अनुग्रह करने के लिए जो परम गोपनीय? अध्यात्मविषयक वचन (उपदेश) आपके द्वारा कहा गया? उससे मेरा मोह दूर हो गया है।।

Brahma Vaishnava Sampradaya - Commentary