Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 10.21 Download BG 10.21 as Image

⮪ BG 10.20 Bhagwad Gita Hindi Translation BG 10.22⮫

Bhagavad Gita Chapter 10 Verse 21

भगवद् गीता अध्याय 10 श्लोक 21

आदित्यानामहं विष्णुर्ज्योतिषां रविरंशुमान्।
मरीचिर्मरुतामस्मि नक्षत्राणामहं शशी।।10.21।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी रामसुख दास जी ( भगवद् गीता 10.21)

।।10.21।।(टिप्पणी प0 556.1) मैं अदितिके पुत्रोंमें विष्णु (वामन) और प्रकाशमान वस्तुओंमें किरणोंवाला सूर्य हूँ। मैं मरुतोंका तेज और नक्षत्रोंका अधिपति चन्द्रमा हूँ।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।10.21।। मैं (बारह) आदित्यों में विष्णु और ज्योतियों में अंशुमान् सूर्य हूँ मैं (उनचास) मरुतों (वायु देवताओं) में मरीचि हूँ और नक्षत्रों में शशी (चन्द्रमा) हूँ।।