Share this page on following platforms.
Download Bhagwad Gita 1.24 Download BG 1.24 as Image

⮪ BG 1.23 Bhagwad Gita Swami Chinmayananda BG 1.25⮫

Bhagavad Gita Chapter 1 Verse 24

भगवद् गीता अध्याय 1 श्लोक 24

सञ्जय उवाच
एवमुक्तो हृषीकेशो गुडाकेशेन भारत।
सेनयोरुभयोर्मध्ये स्थापयित्वा रथोत्तमम्।।1.24।।

हिंदी अनुवाद - स्वामी तेजोमयानंद

।।1.24।।संजय ने कहा हे भारत (धृतराष्ट्र) अर्जुन के इस प्रकार कहने पर भगवान् हृषीकेश ने दोनों सेनाओं के मध्य उत्तम रथ को खड़ा करके।

हिंदी टीका - स्वामी चिन्मयानंद जी

।।1.24।। No commentary.